आखिर क्यों शुभ है इस बार का करवा चौथ -karwachauth 2021

आखिर क्यों शुभ है इस बार का करवा चौथ -karwachauth 2021

करवा चौथ व्रत का हिंदू धर्म में विशेष महत्व है। हिंदू पंचांग के अनुसार, कार्तिक मास के कृष्ण पक्ष की चतुर्थी तिथि को महिलाएं अपने पति की लंबी आयु के लिए निर्जला व्रत रखती हैं। इस साल करवा चौथ 24 अक्टूबर 2021, दिन रविवार को पड़ रहा है। 

करवा चौथ व्रत को चंद्रमा दर्शन और अर्घ्य देने के बाद खोला जाता है। ज्योतिषाचार्यों के अनुसार, इस साल करवा चौथ पूजा रोहिणी नक्षत्र में की जाएगी। यह शुभ संयोग करीब 5 साल बाद बन रहा है। इसके अलावा रविवार के दिन व्रत होने से सूर्यदेव का भी शुभ प्रभाव व्रत पर पड़ेगा।

आखिर क्यों शुभ है इस बार का करवा चौथ -karwachauth 2021


शुभ होने का कारण

इस बार करवाचौथ का व्रत और पूजन बहुत विशेष है। इस बार रोहिणी नक्षत्र और मंगल का योग एक साथ आ रहा है। ज्योतिष के मुताबिक यह योग करवाचौथ को और अधिक मंगलकारी बना रहा है। इससे पूजन का फल हजारों गुना अधिक होगा। 
 
करवाचौथ पर रोहिणी नक्षत्र का संयोग होना अपने आप में एक अद्भुत योग है। रविवार होने से इसका महत्व और बढ़ गया है। 

पति के लिए व्रत रखने वाली सुहागिनों के लिए यह बेहद फलदायी होगा। ऐसा योग भगवान श्रीकृष्ण और सत्यभामा के मिलन के समय भी बना था।

आखिर क्यों शुभ है इस बार का करवा चौथ -karwachauth 2021


क्यों खास है रोहिणी नक्षत्र

 आकाश मंडल के 27 नक्षत्रों में से रोहिणी नक्षत्र चौथा नक्षत्र है। इस नक्षत्र का स्वामी चंद्रमा हैरोहिणी चंद्रदेव की 27 पत्नियों में से एक हैं। यह सबसे सुंदर, तेजस्वनी और सुंदर वस्त्र धारण करनी वाली हैं। रोहिणी प्रजापति दक्ष की पुत्री हैं। सभी पत्नियों में चंद्रमा रोहिणी से ज्यादा स्नेह रखते हैं। आकाश मंडल में जब भी चंद्रमा रोहिणी के पास आते हैं, तब-तब उनमें निखार और अधिक बढ़ जाता है।

करवा चौथ पूजन का मुहूर्त


  चतुर्थी तिथि का आरंभ 24 अक्‍टूबर को सुबह 3 बजकर 1 मिनट पर होगा। जिसका समापन अगले दिन 25 अक्टूबर को सुबह 5 बजकर 43 मिनट पर होगा। इस बार चांद निकलने का समय 8 बजकर 11 मिनट पर है. पूजन का शुभ मुहूर्त 24 अक्टूबर को शाम 06:55 से लेकर 08:51 तक रहेगा। 

No comments: