जब माता लक्ष्मी को बनना पड़ा था नौकरानी

जब माता लक्ष्मी को बनना पड़ा था नौकरानी

एक बार भगवान विष्णु शेषनाग पर बैठकर पृथ्वी पर जाने की तैयारी कर रहे थे। वैसे भी वह कई सालों से पृथ्वी पर नहीं गए थे। भगवान विष्णु ने अपनी तैयारी शुरू की जब माता लक्ष्मी ने उन्हें देखा तो उन्होंने भी अपने स्वामी के साथ जाने की इच्छा रखी। 
भगवान विष्णु ने एक शर्त रखी। तुम उत्तर दिशा की तरफ मत देखना माता लक्ष्मी तैयार हो गयी। अगले दिन भगवान नारायण और महालक्ष्मी धरती पर पहुंच गए। धरती स्वर्ग से कम नहीं थी। सूर्य उदय होने वाला था बरसात पिछली रात होकर हटी थी हर जगह हरियाली थी।
वातावरण एकदम शांति का था धरती बहुत सुंदर लग रही थी। महालक्ष्मी इस नजारे को देखकर एकदम से खो गई और वे भूल गए कि उत्तर दिशा की तरफ नहीं देखना है। उत्तर दिशा में मां लक्ष्मी को बहुत ही सुंदर बगीचा नजर आया। उस तरफ भीनी भीनी खुशबू आ रही थी।