कर्ण के कवच और कुंडल का रहस्य।

कर्ण के कवच और कुंडल का रहस्य।

सूर्य पुत्र कर्ण महाभारत के एक ऐसे योध्दा थे जो अकेले ही पांडवो को हरा सकते थे। क्योंकि उनके पास बचपन से ही असीम शक्तियां प्राप्त थी। उनका जन्म एक कवच और कुंडल के साथ हुआ था उस कवच के सामने कोई भी शस्त्र नही टिक सकता था। इसीलिए दुर्योधन ने भी उन्हे अपना अच्छा दोस्त बना लिया था ताकि समय आने पर वो उनसे सहायता ले सके।